सच्चा प्यार की कहानी हिंदी | Pyar ki Story in Hindi

सच्चा प्यार की कहानी हिंदी | माँ बेटे बाहू की प्यार की कहानी | Pyar ki Story in Hindi

एक लड़की की शादी उसकी मर्जी के खिलाफ सीधे सादे  लड़के से की जाती है जिसकी मां के अलावा और कोई नहीं है दहेज में लड़की को बहुत सारे पैसे और उपहार मिले लड़की किसी और से प्यार करती थी लड़का भी से प्यार करता था लड़की शादी होकर अपने ससुराल आ गई सुहागरात के वक्त लड़का दूध लेकर आता है.

दुल्हन एक सवाल पूछती है अपने पति से एक पत्नी की मर्जी से पति उसको हाथ लगाया तो उसे बलात्कार कहते हैं यह हक है पति इतना लंबा जाने की कोई जरूरत नहीं बस में दूध ले आया हूं को पी लेना मैं बस आपको शादी की शुभकामनाएं देने आया हूं लड़का कमरे से बाहर चला जाता है.

लड़की मन मान के रह जाती है लड़की सोचती थी कि गवार लड़के से मेरा झगड़ा हो वह चाहती थी कि मेरी किसी वजह से लड़ाई हो उसे छुटकारा पाना चाहती थी है तो दुल्हन घर का कोई काम नहीं करती सारा दिन ऑनलाइन रहती है और लड़कों से चैटिंग पर बात करती रहती है उधर लड़के की मां चूल्हे पर खाना बनाती है.

सच्चा प्यार की कहानी हिंदी | Pyar ki Story in Hindi
सच्चा प्यार की कहानी हिंदी | Pyar ki Story in Hindi

और बहू को खिलाती है फिर भी लड़के की मां की होठों पर खुशी होती है लड़का एक कंपनी में नौकरी करता था मगर लड़का बहुत ईमानदार मेहनती भी था लड़के को अपनी बीवी के साथ सोए हुए अब तक सोए नहीं था करीब 1 महीना हो चुका था लड़का बहुत सीधा-साधा था स्वभाव इसलिए बातें नहीं करता था खाने के वक्त वह लड़का अपनी पत्नी से पूछता था खाना कमरे में खाओगी यह हमारे साथ | लड़की की अंदर एक आदत थी सोने से पहले वह डायरी लिखता था.

लड़की के पास एक स्कूटी थी जो वह रोज बाहर जाती थी पति के ऑफिस जाने के बाद पति के घर वापस आने के बाद आ जाती थी 1 दिन लड़का छुट्टी पर था उसकी पत्नी मैं खाना खाने से मना कर दिया था लड़की खाना खाने बाहर गई थी जबकि भी बाहर अपने प्यार से मिलने जाते थे.

तभी लड़की की मां लड़की से कुछ कह देती है और उसके बाद लड़की की बीवी उसकी मां को अपशब्द बोल जाती है लड़का उस पर हाथ उठा देता है मां अपने बेटे को बहुत डरती है बीवी भी चाहती थी कि मेरा झगड़ा हो ताकि मैं घर से चली जाऊं और इस लड़के से छुटकारा मिल जाए, लड़की स्कूटी स्टार्ट करती है और बाहर चली जाती है.

अपने सच्चे प्यार से मिलने, लड़की अपने सच्चे प्यार से कहती है कि वह मुझसे झगड़ा करता है और लड़ाई करता है मुझे उसके साथ नहीं रहना है मुझे बस तुम्हारे साथ रहना है सच्चा प्यार कहता है मैंने भी तुमसे पहले ही कहा था कि तुम मेरे साथ आ जाओ हम दोनों भाग कर शादी कर लेंगे लड़की कहती है .

कि पापा नहीं मानेंगे लड़का कहता है जब तुम घर से आओ तो कुछ जेवर पैसे गहने ले आना लड़की कहती है तेरे पापा को पता चल जाता है कि तभी वह गहने बैंक की पासबुक पैसे उसे सब मुझसे दूर कर देते हैं फिर लड़का कहता है कि पैसे की इतनी जरूरत है कि हम आगे कुछ कर सके हैं.

सच्चा प्यार की कहानी हिंदी | Pyar ki Story in Hindi
Pyar ki Story in Hindi

ताकि अगर पैसे होंगे तो हम कुछ कर लेंगे कुछ खा लेंगे वरना खाली हाथ जाएंगे तो 2 दिन का प्यार सब खत्म हो जाएगा हमारा प्यार 2 दिन ही चलेगा अगर हम खाली हाथ बाजे गे तो हमारा प्यार का भूत 2 दिन में उतर जाएगा लड़का कहता है कि तुम ही तो कहती हो कि शादी के बाद सब कुछ कर लेना और सब कुछ अच्छा लगता है मैं अभी यह बात कह रही हूं कि शादी के बाद सब कुछ सही है मैं आज भी कुंवारी हूं.

मैं जिससे मेरी शादी हुई है मैं अभी तक उसके पास सोई तक नहीं हूं क्योंकि मैं तुम्हें ही अपना पति मान चुकी हूं बस तुम्हारे नाम का सिंदूर लगाना ही बाकी है बस यह तुम सिंदूर लगा दो फिर अपनी मर्जी से कर लेना लड़का मैं भी तैयार हूं शादी करने के लिए बस कुछ पैसे और गहने भी ले आना मत सोचना कि मैं पैसों से प्यार करता हूं मैं सिर्फ तुमसे ही प्यार करता हूं बस कुछ बिजनेस के लिए ही लड़की कहती है.

कि मेरे पापा ने पैसे देने एक मारुति गाड़ी मेरी शादी में उस लड़के को दे नहीं अब मैं क्या लेकर आऊं बस मेरे पास कुछ ध्यान है जो मैं लेकर आ जाऊंगी लड़का ने लड़की को एक होटल का पता बता दिया लड़की अपने घर आ जाती है और मैं अपने रूम में चली जाती है बीवी का पति कहता है कि तुम खाना खा लीजिए बीवी कहती है.

कि मैं खाना बाहर ही खा कर आई हुई हूं लड़की की मां सो जाती है लड़की की डायरी लिखने की आदत थी तो डायरी मांग रहा था अपनी पत्नी से पत्नी ने पहले से ही कमरा लॉक कर रहा था और लाउडस्पीकर से गाने सुन रही थी पति ने कुछ देर तक दरवाजा खटखटाया पत्नी ने दरवाजा नहीं खोला अपने गहने अलमारी में से निकाल रही थी.

अचानक उस से अपने पति की डायरी मिल जाती तब मैं डायरी पड़ती है और उसको कुछ बातें समझ आ जाती हैं लड़की के पिताजी ने लड़के की माता की मदद की थी जिससे लड़की की मां बहुत बीमार थी और उनको पैसे दिए थे लड़का उनका एहसान मानता था.

कुछ दिनों बाद लड़की के पिताजी लड़के के घर पर आए अपनी बेटी का रिश्ता लेकर लड़की के पिताजी ने लड़के से सारी बात बता दी थी कि मेरी लड़की किसी और से प्यार करती है फिर भी लड़का शादी करने को मान गया था लड़का सोचता था कि मैं एक पति तो नहीं बन सकता है लेकिन बेटा तो बन सकता हूं.

सुर सुर का तभी उसके सच्चे प्यार की कॉल आती है बैक कॉल रिसीव नहीं करती है उसको समझ आ जाता है कि मेरा पति मुझसे कितना प्यार करता है और मैं अपने फोन में से सिम निकाल कर तोड़ देती है और वेद दुल्हन की तरह सच कर सो जाती है सुबह जब उठती है तो उसका पति ऑफिस चला जाता है .

जब मैं अपनी सास से मिलती है साथ उसकी किचन में कुछ खाने के लिए बना रही होती है बहू बोलती है कि आज मां मैं कुछ खाने के लिए बनाती हूं मां हैरान हो जाती है वो यह सोचती है कि आज बहू को क्या हुआ बहू अपने हाथ से खाना बना लेती है और वह स्कूटी स्टार्ट करती है और अपनी सास को बैठ आती है .

और चली बाहर चली जाती है कुछ देर बाद अपनी समझ से पूछती है कि ऑफिस का रोड कौन सा है वह ऑफिस पहुंच जाती है खाना लेकर उसका पति देख कर उसे चूम जाता है पत्नी उसको गले लग जाती है पति हैरान हो जाता है फिर वह अपने पति को खाना खिलाती है कंपनी के सारे लोग उसे देख रहे होते हैं .

फिर दोबारा उसके गले लग जाती है और मैनेजर से बोलती है कि हम 1 महीने की छुट्टी दे दीजिए प्लीज पति बोलता है छुट्टी क्यों नहीं है हमें पत्नी बोलती है कि हमें घूमने के लिए जाना है फिर घर आ जाते हैं तेरी बहन मां बेटी बीवी घूमने के लिए चले जाते हैं दोस्तों आपको यह स्टोरी कैसी लगी |

निष्कर्ष

सच्चा प्यार की कहानी आपको कैसी लगी अगर आपको अच्छी लगी हो तो शेयर करें कमेंट करें अगर आपको कोई कमी दिखाई दे तो कमेंट करके जरूर बताएं फिर मिलते हैं अगली पोस्ट में

1 thought on “सच्चा प्यार की कहानी हिंदी | Pyar ki Story in Hindi”

Leave a Comment